Type Here to Get Search Results !

Hindi Shayari : Sad Shayari, dard bhari Shayari - Yaad Shayari - love Shayari

0

Hindi Shayari : Sad Shayari, dard bhari Shayari - Yaad Shayari - love Shayari 




कहीं-सुनी सारी बातों का हिसाब करती है...!!


तुम्हारी यादें मेरी रातें खराब करती है...!!!



मोहब्बत नहीं शायद दिल्लगी रही होगी


वरना मेरा पल भर का बिछड़ना भी उनके लिए क़यामत होत



मंज़िल का मुकम्मल ना होना तो जायज़ था..



हम भी तो राह के अजनबियों से इश्क कर बैठे थे।



नींद में गिरते है मेरे आंसू,



ख्वाबों में जब तुम मेरा हाथ छोड़ देते हो।



हर मर्ज़ का इलाज मिलता था उस बाजार में,



मोहब्बत का नाम लिया दवाखाने बंद हो गए।


यूं तो हमे भूले है कई लोग तुमसे पहले भी..





बस तुम सा कोई याद नहीं आया।


अब यही सजा बची है मेरे  किए मोहब्बत वाले गुनाहों का,,, माहीं



 कि मैं उसे पल पल याद करूं और वो मुझे कभी नहीं   




इश्क हुआ है हमसे तो 

हमसे मुलाकात कीजिए ।।।


आप वफा की उम्मीद रखते है 

पहले खुद तो वफा कीजिए




अपनी तबाहियों का मुझे

    कोई गम नहीं   


तुम किसी के साथ मेरी मोहब्बत निभा तो रहे हो....



दर्द से मेरादिल बहुत रो रहा है जान 


तुम साथ होते तो थोड़े आँशु भी बहा लेते




चंद लम्हो की जिंदगी है 

चंद लम्हो की है चाय 


आ जाओ जानेमन इस पल

को कही जाके एकसाथ बिताए 



_दीवारों से मिलकर रोना अच्छा लगता है,,!!_


   


_हम भी पागल हो जाएंगे ऐसा लगता है,,!!_




जिसकी फितरत थी बगावत करना,,


जाना


 तुमने उस दिल पर हुकूमत की है..

 

 ❤


किसी के दर्द की बैंडेज मत बनो 


क्योंकि जब घाव भर जाएगा तो 


तुम कूड़ेदान में फेंक दिए जाओगे 



तुम्हारा मुझे ठुकराना बिल्कुल जायज़ है


मैंने भी बहुतों को ठुकराया था तेरे आस में 


Post a Comment

0 Comments